Agnipath Protests 316 Trains Affected 200 Cancelled Across Country 7 Trains Affected By Arson – Agnipath Protest: देशभर में 316 ट्रेनें प्रभावित, 200 रद्द; आगजनी से सात ट्रेनों पर असर

0
2
Advertisement

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: निर्मल कांत
Updated Fri, 17 Jun 2022 09:56 PM IST

Advertisment

सार

प्रादेशिक रेलवे के ताजा बयान के मुताबिक, पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) में 164 ट्रेनें, उत्तर पूर्वी रेलवे (एनईआर) में 34, उत्तर रेलवे में 13 और पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे में लगभग तीन ट्रेनें रद्द कर दी गईं। 

अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों से 316 ट्रेनें प्रभावित

अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों से 316 ट्रेनें प्रभावित
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

विस्तार

रक्षा सेवाओं में भर्ती के लिए ‘अग्निपथ योजना’ के विरोध में अब तक 300 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुई हैं जबकि 200 से अधिक रद्द कर दी गई है। रेलवे ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। 

रेलवे ने बताया कि विरोध के कारण 94 मेल व एक्सप्रेस ट्रेनें और 140 यात्री ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं जबकि 65 मेल व एक्सप्रेस और 30 यात्री ट्रेनें आंशिक रूप से रद्द कर दी गई हैं। 

प्रादेशिक रेलवे के ताजा बयान के मुताबिक, पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) में 164 ट्रेनें, उत्तर पूर्वी रेलवे (एनईआर) में 34, उत्तर रेलवे में 13 और पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे में लगभग तीन ट्रेनें रद्द कर दी गईं। 

अधिकारियों ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने अब तक सात ट्रेनों के डिब्बों को आग के हवाले किया है और इसी जोन के कुल्हरिया में ईसीआर में चल रही तीन ट्रेनों और एक खाली रेक को भी प्रदर्शनकारियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। 

उत्तर प्रदेश के बलिया में वाशिंग लाइन में ट्रेन का एक डिब्बा क्षतिग्रस्त हो गया। ईसीआर में अबतक 64 ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट किया गया है। उन्होंने बताया कि शाम पांच बजे के बाद से पटरियों पर कोई विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ। 

वहीं दक्षिणी रेलवे ने एक बयान में कहा कि ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर व्यापक प्रदर्शन और आगजनी के कारण उसके अधिकार क्षेत्र से बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर जाने वाली सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया जाएगा। 

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने युवाओं से रेलवे की संपत्ति को नष्ट न करने की अपील की है। उन्होंने कहा, “मैं युवाओं से हिंसक विरोध प्रदर्शन में शामिल न होने और रेलवे की संपत्ति को नुकसान न पहुंचाने की अपील करता हूं।”

हिसंक प्रदर्शनों से बुरी तरह प्रभावित पूर्व मध्य रेलवे ने आंदोलन के कारण कुछ ट्रेनों की ‘निगरानी’ करने का फैसला किया है। अधिकारियों ने कहा कि वे ट्रेन की आवाजाही पर नजर रख रहे हैं। स्थिति सुधरने पर उनके संचालन पर निर्णय लेंगे। 

जिन ट्रेनों की निगरानी की जा रही हैं, वे हैं-

12303 हावड़ा-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस

12353 हावड़ा-लालकुआं एक्सप्रेस

18622 रांची-पटना पाटलिपुत्र एक्सप्रेस

18182 दानापुर-टाटा एक्सप्रेस

22387 हावड़ा-धनबाद ब्लैक डायमंड एक्सप्रेस

13512 आसनसोल-टाटा एक्सप्रेस

13032 जयनगर-हावड़ा एक्सप्रेस

13409 मालदा टाउन-किउल एस्प्रेस

अधिकारियों ने बताया कि ईसीआर के तहत 12335 मालदा टाउन-लोकमान्य तिलक (टी) एक्सप्रेस और हावड़ा-नई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस को रद्द कर दिया गया है। रेलवे ने कहा कि पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे द्वारा चलाई कई ट्रेनें ईसीआर अधिकार क्षेत्र से गुजरती हैं और उनमें से तीन व्यापक विरोध प्रदर्शन की चपेट में आ गई हैं। 

देश के सबसे बड़े रेलवे जोन उत्तर रेलवे में 13 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। इनमें शामिल हैं-

15624 कामाख्या-भगत की कोठी एक्सप्रेस

15623 भगत की कोठी कामाख्या एक्सप्रेस

12565 दरभंगा-नई दिल्ली बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस

15273 रक्सुअल-आनंद विहार टर्मिनल सत्याग्रह एक्सप्रेस

02563 सहरसा-नई दिल्ली ट्रेन

12273 हावड़ा-नई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस

12435 जयनगर-आनंद विहार टर्मिनल गरीब रथ एक्सप्रेस

अग्निपथ रक्षा भर्ती योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान पहली हताहत की घटना सिकंदराबाद में हुई। पुलिस की फायरिंग में एक व्यक्ति की मौत हो गई। शुक्रवार को तीसरे दिन कई राज्यों में हिंसक प्रदर्शन हुए जिसमें कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया, सार्वजनिक संपत्ति को तोड़फोड़ की गई और हजारों पटरियों और राजमार्गों को अवरुद्ध कर दिया गया। 

रेलवे अधिकारियों ने कहा कि अचल संपत्तियों के नुकसान का आकलन फिलहाल मुश्किल है। 

परिचालन कारणों से आज 17 जून स शुरू होने वाली 17 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है: दीपक कुमार, मुख्य पीआरओ, उत्तर रेलवे  

पूर्व मध्य रेलवे क्षेत्राधिकार में छात्र आंदोलन के कारण, 8 ट्रेनें आज 17 जून को रद्द रहेंगी: सीपीआरओ, पूर्वी रेलवे

Advertisment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here