Delhi Police Alert After Al-qaeda Threat Of Suicide Attack – खुफिया तंत्र सतर्क: अल-कायदा के आत्मघाती हमले की धमकी के बाद दिल्ली पुलिस अलर्ट, मुंबई-यूपी और गुजरात निशाने पर

0
4
Advertisement

ख़बर सुनें

Advertisment
पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के बाद आतंकी संगठन अल-कायदा ने पूरे देश में आत्मघाती हमला करने की धमकी दी है। खासकर दिल्ली, मुंबई, उत्तर-प्रदेश और गुजरात इनके निशाने पर हैं। ताजा धमकी और देश के हालिया हालात को देखते हुए दिल्ली पुलिस भी अलर्ट मोड में आ गई है। खुद दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना और स्पेशल सीपी हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

हमले के समय राजधानी के अलग-अलग जिलों में पुलिस की तैयारी जांचने के लिए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ‘डमी आईईडी’ प्लान की योजना बनाई है। किसी भी जगह नकली आईईडी रखकर पुलिस की तैयारियों की जांच की जाएगी। इसके लिए स्पेशल सेल ने सभी जिलों को पत्र लिखकर सतर्क रहने और अपना खुफिया तंत्र मजबूत करने के लिए कहा है। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि ऐसा करने से किसी हमले के समय पुलिस की तैयारियां मजबूत होंगी और पुलिस विषम परिस्थितियों के दौरान आसानी से निपट लेगी।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पैगंबर मोहम्मद मुद्दे पर चल रहे विवाद और हालिया हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए दिल्ली पुलिस पहले से ही अलर्ट मोड पर है। ताजा मामले में अल-कायदा की ओर से मिली आत्मघाती हमले की धमकी के बाद पूरी फोर्स को सतर्क रहने का आदेश दिया गया है। इसको लेकर स्पेशल सेल ने बृहस्पतिवार को एक पत्र लिखकर सभी जिलों को सावधान रहने के लिए कहा है। आतंकवादी हमले और किसी भी योजना को विफल करने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है। 

लोकल पुलिस को निर्देशित किया गया यदि कोई संदिग्ध वस्तु बाजार, भीड़भाड़ वाले स्थान, मॉल, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशन या अन्य स्थानों पर मिलती है तो ऐसे में क्या करना है। पुलिस ने जारी पत्र में कहा है कि यदि ऐसा कुछ दिखाई देता है कि तुरंत क्षेत्र की घेराबंदी कर दें, इसके लिए रेत के बैग का इस्तेमाल किया जा सकता है, बम निरोधक दस्ते को सूचना देने के अलावा स्पेशल सेल को तुरंत इस संबंध खबर देना है। अपने पत्र में स्पेशल सेल ने लोकल पुलिस को खास तौर से शाम छह से नौ बजे के बीच एरिया में गश्त और सीसीटीवी की निगरानी के लिए भी कहा है।

आने वाले स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए किराएदारों का सत्यापन, होटल, गेस्ट हाउस जांच पर विशेष ध्यान देने के लिए भी कहा गया है। शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए सभी जिलों को अलर्ट किया गया था। शुक्रवार को दिन में दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने जामा मस्जिद की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए मध्य जिला का दौरा किया। इससे पूर्व स्पेशल सीपी लॉ एंड ऑर्डर दीपेंद्र पाठक ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी जिला पुलिस उपायुक्त समेत तमाम वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कुछ शरारती तत्व अफवाह फैलाकर सांप्रदायिक तनाव फैलाना चाहते हैं। ऐसे लोगों के अलावा सोशल मीडिया पर खास नजर रखने के लिए कहा गया है।

विस्तार

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के बाद आतंकी संगठन अल-कायदा ने पूरे देश में आत्मघाती हमला करने की धमकी दी है। खासकर दिल्ली, मुंबई, उत्तर-प्रदेश और गुजरात इनके निशाने पर हैं। ताजा धमकी और देश के हालिया हालात को देखते हुए दिल्ली पुलिस भी अलर्ट मोड में आ गई है। खुद दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना और स्पेशल सीपी हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

हमले के समय राजधानी के अलग-अलग जिलों में पुलिस की तैयारी जांचने के लिए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ‘डमी आईईडी’ प्लान की योजना बनाई है। किसी भी जगह नकली आईईडी रखकर पुलिस की तैयारियों की जांच की जाएगी। इसके लिए स्पेशल सेल ने सभी जिलों को पत्र लिखकर सतर्क रहने और अपना खुफिया तंत्र मजबूत करने के लिए कहा है। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि ऐसा करने से किसी हमले के समय पुलिस की तैयारियां मजबूत होंगी और पुलिस विषम परिस्थितियों के दौरान आसानी से निपट लेगी।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पैगंबर मोहम्मद मुद्दे पर चल रहे विवाद और हालिया हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए दिल्ली पुलिस पहले से ही अलर्ट मोड पर है। ताजा मामले में अल-कायदा की ओर से मिली आत्मघाती हमले की धमकी के बाद पूरी फोर्स को सतर्क रहने का आदेश दिया गया है। इसको लेकर स्पेशल सेल ने बृहस्पतिवार को एक पत्र लिखकर सभी जिलों को सावधान रहने के लिए कहा है। आतंकवादी हमले और किसी भी योजना को विफल करने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है। 

लोकल पुलिस को निर्देशित किया गया यदि कोई संदिग्ध वस्तु बाजार, भीड़भाड़ वाले स्थान, मॉल, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशन या अन्य स्थानों पर मिलती है तो ऐसे में क्या करना है। पुलिस ने जारी पत्र में कहा है कि यदि ऐसा कुछ दिखाई देता है कि तुरंत क्षेत्र की घेराबंदी कर दें, इसके लिए रेत के बैग का इस्तेमाल किया जा सकता है, बम निरोधक दस्ते को सूचना देने के अलावा स्पेशल सेल को तुरंत इस संबंध खबर देना है। अपने पत्र में स्पेशल सेल ने लोकल पुलिस को खास तौर से शाम छह से नौ बजे के बीच एरिया में गश्त और सीसीटीवी की निगरानी के लिए भी कहा है।

आने वाले स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए किराएदारों का सत्यापन, होटल, गेस्ट हाउस जांच पर विशेष ध्यान देने के लिए भी कहा गया है। शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए सभी जिलों को अलर्ट किया गया था। शुक्रवार को दिन में दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने जामा मस्जिद की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए मध्य जिला का दौरा किया। इससे पूर्व स्पेशल सीपी लॉ एंड ऑर्डर दीपेंद्र पाठक ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी जिला पुलिस उपायुक्त समेत तमाम वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कुछ शरारती तत्व अफवाह फैलाकर सांप्रदायिक तनाव फैलाना चाहते हैं। ऐसे लोगों के अलावा सोशल मीडिया पर खास नजर रखने के लिए कहा गया है।

Advertisment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here