Elderly Woman Gang Molested Accused Sent To Jail For Theft – गोरखपुर पुलिस का हाल: बुजुर्ग महिला से सामूहिक दुष्कर्म, आरोपियों को चोरी में भेजा जेल

0
0
Advertisement

ख़बर सुनें

Advertisment
गोरखपुर जिले के गुलरिहा पुलिस ने अपने ही आला अफसरों को गुमराह करके बुजुर्ग महिला से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को चोरी में जेल भेज दिया। मामला अफसरों के संज्ञान में आया तो पुलिस अपनी गर्दन बचाने में जुट गई। आननफानन सामूहिक दुष्कर्म की धारा बढ़ाकर खुद को पाक-साफ बताने की कोशिश भी की गई। इतना ही नहीं, पहले दर्ज लूट के मुकदमे को बदलकर चोरी कर दिया गया। मामला बड़ा है। लिहाजा, आला अफसरों ने कार्रवाई के संकेत भी दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, घटना सोमवार देर रात की है। 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपने टीनशेड के मकान में अकेले सोई थी। इसी दौरान गांव के ही दो युवक आए और दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हो गए। दोनों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, फिर पांच हजार रुपये, कान के टप्स लूट कर फरार हो गए।

महिला के घर के पास ही जन्मदिन पार्टी चल रही थी। तेज आवाज में गाने बज रहे थे, इस वजह से महिला की आवाज लोगों तक नहीं पहुंच सकी। घटना की जानकारी रात में ही गांव वालों ने पुलिस को दी। कुछ दूरी पर रहने वाला बुजुर्ग महिला का बेटा भी आया। पुलिस ने बेटे से तहरीर लिखवा ली, फिर लूट की धारा में केस दर्ज कर लिया।

इसे भी पढ़ें: बच्चों को गीत के माध्यम से वर्णमाला समझा रहे गुरु जी, हर तरफ हो रही तारीफ

हालांकि, चंद घंटे की जांच में लूट की धारा हटा दी गई, फिर चोरी की धारा में आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया। दोनों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया। गुलरिहा पुलिस दुष्कर्म की घटना को लगातार झुठलाने में जुटी रही, लेकिन इसकी जानकारी एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर व एसपी नार्थ मनोज अवस्थी को हो गई। आला अफसरों ने सवाल किया तो गुलरिहा पुलिस सकते में आ गई। छानबीन के दौरान बड़ी गलती का एहसास हो गया। लिहाजा, पुलिस ने दुष्कर्म की घटना को स्वीकार किया और सामूहिक दुष्कर्म की धारा में बढ़ा दी।

चंद घंटों में लूट को चोरी में बदला
गुलरिहा पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में महज एक नहीं, बल्कि दो खेल किए। पुलिस ने तहरीर पर दर्ज तो लूट का केस किया था, लेकिन चंद घंटों की जांच में इस धारा को ही हटा दिया। लूट को चोरी में बदलकर पुलिस ने आरोपियों को जेल भेजा। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से आरोपियों को बचाव का मौका मिल गया। वह भी उन आरोपियों को, जिन्होंने बुजुर्ग महिला को निशाना बनाने से गुरेज तक नहीं किया।

पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने दुष्कर्म की धारा बढ़ा दी है। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। जांच के आधार पर आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाएगी। – डॉ. गौरव ग्रोवर, एसएसपी

विस्तार

गोरखपुर जिले के गुलरिहा पुलिस ने अपने ही आला अफसरों को गुमराह करके बुजुर्ग महिला से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को चोरी में जेल भेज दिया। मामला अफसरों के संज्ञान में आया तो पुलिस अपनी गर्दन बचाने में जुट गई। आननफानन सामूहिक दुष्कर्म की धारा बढ़ाकर खुद को पाक-साफ बताने की कोशिश भी की गई। इतना ही नहीं, पहले दर्ज लूट के मुकदमे को बदलकर चोरी कर दिया गया। मामला बड़ा है। लिहाजा, आला अफसरों ने कार्रवाई के संकेत भी दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, घटना सोमवार देर रात की है। 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपने टीनशेड के मकान में अकेले सोई थी। इसी दौरान गांव के ही दो युवक आए और दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हो गए। दोनों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, फिर पांच हजार रुपये, कान के टप्स लूट कर फरार हो गए।

महिला के घर के पास ही जन्मदिन पार्टी चल रही थी। तेज आवाज में गाने बज रहे थे, इस वजह से महिला की आवाज लोगों तक नहीं पहुंच सकी। घटना की जानकारी रात में ही गांव वालों ने पुलिस को दी। कुछ दूरी पर रहने वाला बुजुर्ग महिला का बेटा भी आया। पुलिस ने बेटे से तहरीर लिखवा ली, फिर लूट की धारा में केस दर्ज कर लिया।

इसे भी पढ़ें: बच्चों को गीत के माध्यम से वर्णमाला समझा रहे गुरु जी, हर तरफ हो रही तारीफ

हालांकि, चंद घंटे की जांच में लूट की धारा हटा दी गई, फिर चोरी की धारा में आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया। दोनों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया। गुलरिहा पुलिस दुष्कर्म की घटना को लगातार झुठलाने में जुटी रही, लेकिन इसकी जानकारी एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर व एसपी नार्थ मनोज अवस्थी को हो गई। आला अफसरों ने सवाल किया तो गुलरिहा पुलिस सकते में आ गई। छानबीन के दौरान बड़ी गलती का एहसास हो गया। लिहाजा, पुलिस ने दुष्कर्म की घटना को स्वीकार किया और सामूहिक दुष्कर्म की धारा में बढ़ा दी।

चंद घंटों में लूट को चोरी में बदला

गुलरिहा पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में महज एक नहीं, बल्कि दो खेल किए। पुलिस ने तहरीर पर दर्ज तो लूट का केस किया था, लेकिन चंद घंटों की जांच में इस धारा को ही हटा दिया। लूट को चोरी में बदलकर पुलिस ने आरोपियों को जेल भेजा। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से आरोपियों को बचाव का मौका मिल गया। वह भी उन आरोपियों को, जिन्होंने बुजुर्ग महिला को निशाना बनाने से गुरेज तक नहीं किया।

पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने दुष्कर्म की धारा बढ़ा दी है। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। जांच के आधार पर आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाएगी। – डॉ. गौरव ग्रोवर, एसएसपी

Advertisment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here