Imam Org Chief Says When The Rss Chief Calls Mohan Bhagwat Rashtrapita As He Visits Mosque – Bhagwat Visits Mosque: इमाम संघ के प्रमुख ने मोहन भागवत को बताया राष्ट्रपिता, कहा- हमारे लिए देश सर्वप्रथम

0
0
Advertisement

मस्जिद से निकलते आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत

मस्जिद से निकलते आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत
– फोटो : ANI

Advertisment

ख़बर सुनें

अखिल भारतीय इमाम संघ के मुख्य इमाम डॉ. इलियासी का कहना है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत राष्ट्रपिता हैं। उन्होंने कहा कि वे राष्ट्रऋषि भी हैं। इससे पहले संघ प्रमुख भागवत ने दिल्ली के कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थित एक मस्जिद में डॉक्टर इलियासी से मुलाकात की थी।

डॉ. इलियासी ने कहा, ”उनके मस्जिद आने से अच्छा संदेश जाएगा। हमारा पूजा करने का तरीका अलग है लेकिन सबसे बड़ा धर्म मानवता है। हम देश को सर्वप्रथम मानते हैं।

भागवत कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थिति एक मस्जिद में गए और उसके बाद उत्तरी दिल्ली में स्थित ताजवीदुल कुरान मदरसे का दौरा किया। उनके साथ चल रहे संघ के एक पदाधिकारी ने बताया कि भागवत पहली बार किसी मदरसा गए हैं।

आरएसएस के अधिकारी ने बताया कि अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख उमर अहमद इलियासी ने मदरसे में बच्चों से बात करते हुए भागवत को राष्ट्रपिता बुलाकर संबोधित किया। हालांकि भागवत ने उन्हें टोकते हुए कहा कि राष्ट्रपिता सिर्फ एक हैं और कहा कि सभी भारत की संतान हैं।

उन्होंने कहा कि आरएसएस ने भी बच्चों को देश के बारे में और अधिक जानने की जरूरत पर बात की और जोर देकर कहा कि पूजा करने की पद्धति अलग हो सकती है लेकिन सभी धर्मों का सम्मान किया जाना चाहिए।

इलियासी और भागवत ने मस्जिद में लगभग एक घंटे तक बातचीत की। अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख इलियासी का आवास भी यहीं है। इलियासी ने बताया कि भागवत ने मस्जिद और मदरसे का दौरा उनके आमंत्रण पर किया है।

इलियासी ने बाद में बताया, ”वे राष्ट्रपिता हैं। हमने देश को मजबूत करने के लिए कई मुद्दों पर बात की।”

विस्तार

अखिल भारतीय इमाम संघ के मुख्य इमाम डॉ. इलियासी का कहना है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत राष्ट्रपिता हैं। उन्होंने कहा कि वे राष्ट्रऋषि भी हैं। इससे पहले संघ प्रमुख भागवत ने दिल्ली के कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थित एक मस्जिद में डॉक्टर इलियासी से मुलाकात की थी।

डॉ. इलियासी ने कहा, ”उनके मस्जिद आने से अच्छा संदेश जाएगा। हमारा पूजा करने का तरीका अलग है लेकिन सबसे बड़ा धर्म मानवता है। हम देश को सर्वप्रथम मानते हैं।

भागवत कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थिति एक मस्जिद में गए और उसके बाद उत्तरी दिल्ली में स्थित ताजवीदुल कुरान मदरसे का दौरा किया। उनके साथ चल रहे संघ के एक पदाधिकारी ने बताया कि भागवत पहली बार किसी मदरसा गए हैं।

Advertisment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here