Mukhtar Ansari Appear In Mau Court Police Team Reached From Banda Jail In Gangster Act – मुख्तार अंसारी की मऊ कोर्ट में पेशी: गैंगस्टर एक्ट में आरोप तय, मीडिया से हंसकर कहा- बोलने पर है पाबंदी

0
0
Advertisement

ख़बर सुनें

Advertisment
गैंगस्टर एक्ट के मामले में बांदा जेल में निरुद्ध पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की पेशी आज मऊ कोर्ट में हुई। विशेष न्यायाधीश एमपी/एमएलए कोर्ट दिनेश कुमार चौरसिया ने मामले में मुख्तार समेत सभी चार आरोपियों पर आरोप तय किया। साथ ही मामले में साक्ष्य के लिए 30 सितंबर की तिथि तय की।

मुख्तार के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने प्रार्थना पत्र देकर सुरक्षा के मद्देनजर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी कराए जाने की मांग की। इस प्रार्थना पत्र को विशेष न्यायाधीश ने स्वीकार किया। अग्रिम आदेश तक मुख्तार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी करने का आदेश दिया।
mukhtar ansari in mau 6322e32d20786

मुख्तार को मीडिया से रखा गया दूर
कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस की टीम मुख्तार को लेकर बांदा जेल से मऊ पहुंची। मऊ कचहरी परिसर छावनी में तब्दील रहा। पिछली सुनवाई पर कोर्ट ने मुख्तार को व्यक्तिगत रूप से तलब किया था। कोर्ट से बाहर निकलने के बाद मुख्तार अंसारी की किसी बात नहीं हो सकी। मीडिया को दूर रखा गया। हालांकि पत्रकारों को देखकर  मुख्तार ने हंसते हुए कहा कि बोलने पर पाबंदी है। 

फर्जी हथियार मामले में मुख्तार अंसारी समेत चार लोगों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मऊ के दक्षिण टोला थाने में केस दर्ज किया गया था। बांदा जेल से अभी तक मुख्तार को वीडियो कांफ्रेंसिंग ही पेश किया जाता रहा है। यह पहली बार जब मुख्तार को जिले में पेश होने के लिए लाया गया। इसके लिए कोर्ट परिसर और आसपास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई। सुरक्षा बलों ने संदिग्ध लोगों से पूछताछ भी की। कचहरी और आसपास के क्षेत्रों में चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पीएसी के जवान तैनात रहे।  यही नहीं गाजीपुर से लेकर मऊ तक हाईवे पर हर जगह फोर्स लगाई गई। 

मामला दक्षिण टोला थाना क्षेत्र का है। अभियोजन के अनुसार तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक दक्षिण टोला निहार नंदन की तहरीर पर फर्जी असलहा प्रकरण मामले में दर्ज हुए मुकदमे को आधार बनाकर मुख्तार अंसारी, इजराइल अंसारी, सलीम और अनवर शहजाद के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज हुआ। पुलिस ने विवेचना के बाद आरोप पत्र कोर्ट में प्रेषित किया।

मामला एमपी/ एमएलए कोर्ट में विचाराधीन है। जिसमें मुख्तार सहित चारों आरोपियों पर आरोप तय होना था। गुरुवार को मुख्तार अंसारी को बांदा जेल से भारी सुरक्षा के बीच दीवानी कचहरी स्थित गैंगस्टर कोर्ट मे पेश किया गया। वहीं आरोपी सलीम और अनवर शहजाद को गाजीपुर जेल से लाकर पेश किया गया।

एक आरोपी इजराइल अंसारी जो जमानत पर कोर्ट मे हाजिर हुआ। विशेष न्यायाधीश ने सभी आरोपियों पर आरोप तय किया। साक्ष्य के लिए 30 सितंबर की तिथि तय कर दी। इस दौरान कचहरी परिसर मे सुरक्षा का व्यापक बंदोबस्त किया गया था। एएसपी त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने कचहरी पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। 

गैंगस्टर एक्ट में बांदा जेल से कोर्ट में पेशी पर आए मुख्तार अंसारी एक घंटे तक अदालत परिसर के अंदर रहा। मुख्तार अंसारी को पुलिस कचहरी परिसर लेकर पहुंची। वज्रवाहन से उतरते ही सीधे कोर्ट मे लेकर चली गई। मुख्तार अंसारी 11.45 बजे कोर्ट में दाखिल हुआ।

वहां आरोप तय होने और अगली तिथि नियत होने के बाद उसका हस्ताक्षर कराया गया। इस दौरान उसके साथ कोर्ट मे तीन अन्य आरोपी भी मौजूद रहे। पूरी कार्यवाही पूरी होने मे एक घंटे का समय लगा। इसके बाद कोर्ट से निकलते ही पुलिस ने सुरक्षा घेरा बनाकर मुख्तार को बाहर लाया और वाहन में बैठाकर रवाना किया। 

विस्तार

गैंगस्टर एक्ट के मामले में बांदा जेल में निरुद्ध पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की पेशी आज मऊ कोर्ट में हुई। विशेष न्यायाधीश एमपी/एमएलए कोर्ट दिनेश कुमार चौरसिया ने मामले में मुख्तार समेत सभी चार आरोपियों पर आरोप तय किया। साथ ही मामले में साक्ष्य के लिए 30 सितंबर की तिथि तय की।

मुख्तार के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने प्रार्थना पत्र देकर सुरक्षा के मद्देनजर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी कराए जाने की मांग की। इस प्रार्थना पत्र को विशेष न्यायाधीश ने स्वीकार किया। अग्रिम आदेश तक मुख्तार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी करने का आदेश दिया।

mukhtar ansari in mau 6322e32d20786

मुख्तार को मीडिया से रखा गया दूर

कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस की टीम मुख्तार को लेकर बांदा जेल से मऊ पहुंची। मऊ कचहरी परिसर छावनी में तब्दील रहा। पिछली सुनवाई पर कोर्ट ने मुख्तार को व्यक्तिगत रूप से तलब किया था। कोर्ट से बाहर निकलने के बाद मुख्तार अंसारी की किसी बात नहीं हो सकी। मीडिया को दूर रखा गया। हालांकि पत्रकारों को देखकर  मुख्तार ने हंसते हुए कहा कि बोलने पर पाबंदी है। 

Advertisment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here